eng
competition

Text Practice Mode

मंगल फॉन्ट (No Error) ------ by Sumit ABs

created Nov 15th, 04:37 by Sumit ABs


2


Rating

250 words
296 completed
00:00
चीन के द्वारा सैटेलाइट (सस्ते) लॉन्च करने की दरों में कटौती करने की घोषणा के बाद भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने भी कहा है कि वो भी अपने दरों में कटौती करने के लिए तैयार है।  
चीन ने मंगलवार को घोषणा की थी कि वो 5 हजार डॉलर की दर से प्रति किलोग्राम सैटेलाइट लॉन्च करेगा। हालांकि आमतौर पर सैटेलाइट लॉन्च करने कीमत को सार्वजनिक नहीं किया जाता है लेकिन बीजिंग के एयरोस्पेस फोरम ने ऐसा किया है।  
 
बीजिंग के एयरोस्पेस फोरम द्वारा कीमत घटाने के बाद  के इसरो अधिकारियों ने कहा कि हम सिर्फ सस्ती दरों में बल्कि नई आधुनिक तकनीक से सैटेलाइट लॉन्च करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।
 
चीन एयरोस्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजीकल कॉर्पोरेशन (सीएएससी) के अधिकारी यांग बाहुआ ने कहा है कि उनकी फोरम ने ऐसे स्पेसक्राफ्ट और एक लॉन्चिंग व्हीकल डेवलप किए हैं जो सैटेलाइट्स को अंतरिक्ष में सस्ती दरों पर लॉन्च करने के लिए तैयार हैं।  
चीनी अखबार पीपल्स डेली ने यांग का जिक्र करते हुए लिखा है कि हम 5 हजार डॉलर की दर से प्रति किलोग्राम सैटेलाइट लॉन्च करने कर सकते हैं क्या इसरो इतने सस्ते में सैटेलाइट लॉन्च कर सकता है?
 
इसके बाद इसरो के प्रवक्ता देवी प्रसाद कर्णिक ने जवाब देते कहा कि हम चीन की इस चुनौती से मुकाबला करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। इसरो ने अबतक कई देशों के सैटेलाइट काफी सस्ती दरों में सफलतापूर्व लॉन्च किए हैं। अबतक हमने 28 देशों के 209 छोटे-बड़े सैटेलाइट्स लॉन्च किए हैं।
 

saving score / loading statistics ...