eng
competition

Text Practice Mode

Sarode Online Typing Center Harda For CPCT

created Mar 15th, 07:22 by Anil Sarode


0


Rating

232 words
9 completed
00:00
तनाव के इस युग में हर जगह लोग तनाव के शिकार हैं। मैं मध्‍य पूर्व की कई यात्राएँ कर चुका हूँ। यह जगह पाश्‍चात्‍य सभ्‍यता के भौतिक माहौल से काफी दूर है, लेकिन वहाँ भी मैंने नर्वसनेस की बढ़ती प्रवृत्ति देखी है। वहाँ के धर्मनिष्‍ठ लोग पैदल चलते वक्‍़त आम तौर पर अपनी पीठ के पीछे मनकों की माला रखते हैं। चलते-चलते वे तीस मनकों पर ऊँगलियाँ फेरते रहते हैं और हर मनका किसी आराध्‍य के नाम का प्रतिनिधित्‍व करता है। आम तौर पर इसे ''चिंता के मनके'' कहा जाता है और माना जाता है कि इससे तनाव और चिंता कम करने में बहुत मदद मिलती है। अगर आप इस आदत को अंधविश्‍वास कहने के इच्‍छुक हों, तो मैं आपको फिफ्थ एवेन्‍यू की एक आलीशान दुकान के बारे में बताना चाहूँगा, जिसके मालिक ने मुझे हरित रत्‍न का अपना असाधारण स्‍टॉक दिखाया। दूसरी वस्‍तुओं के अलावा उसने मुझे इस रत्‍न का एक समतल टुकड़ा दिखाया, जो शायद दो-तीन इंच लंबा और दो इंच चौड़ा था। इसे अँगूठे में पहनने के लिए तैयार किया गया था। उसने इसे फिजेट स्‍टोन नाम दिया था। फिर उसने मुझे उदारतापूर्वक एक अशांति रत्‍न तोहफे में देते हुए बताया कि वह ये रत्‍न न्‍यूयार्क सिटी और वेस्‍टचेस्‍टर के बाशिंदों को काफी बड़ी तादाद में बेच रहा है। पत्‍थर के साथ एक छोटा फोल्‍डर भी था, जिसमें खरीदार के नाम यह संदेश था शांति अब आपकी ऊँगलीयाें में।

saving score / loading statistics ...