eng
competition

Text Practice Mode

ACADEMY FOR STENOGRAPHY, MORENA,DIR- BHADORIYA SIR TYPING MPHC DISTRICT COURT AG-3

created Thursday September 22, 05:29 by mahaveer kirar


2


Rating

348 words
111 completed
00:00
विद्वान न्‍यायमूर्ति के समक्ष वाले मामले में का वचन पत्र 37000 रूपए की धनराशि के लिए था तथा वादी ने साक्ष्‍य में यह कथन किया था कि उसने 96 रूपए लिए थे और शेष धनराशि के बदले में उसने वचन पत्र के निष्‍पादक की दुकान में का अपना सारा माल बेच दिया था अर्थात् वादी ने प्रतिफल के बदले में किन-किन वस्‍तुओं का व्‍यापार किया गया, वस्‍तुओं की सूची या खाता पेश नहीं किया। उन परिस्थितियों में माननीय न्‍यायमूर्ति ने यह अभिनिर्धारित किया कि चूंकि वादी ने दस्‍तावेजी साक्ष्‍य स्‍वेच्‍छया विधारित किया है अत: उसके विरुद्ध साक्ष्‍य अधिनियम की धारा 114 के अधीन प्रतिकूल निष्‍कर्ष निकाला जाना है तथा अधिनियम के अधीन उद्भूत होने वाली उपधारणा का साक्ष्‍य अधिनियम की धारा 114 के अधीन निकाले गए प्रतिकूल निष्‍कर्ष से खंडन हो गया है और उन्‍होंने तद्नुसार वादी का वाद खारिज कर दिया। दुर्गाचरण राम बनाम अच्‍युत पति और अन्‍य वाले मामले में माननीय न्‍यायमूर्ति ने यह मताभिव्‍यक्ति की है कि प्रतिवादी को वह अभिवचन करने और साबित करने की छूट है कि जिस वचनपत्र की बाबत यह अभिकथन किया गया है कि उसका निष्‍पादन नकद संदाय के लिए किया गया था, सांपश्विक प्रतिभूति के रूप में दिया गया है। तथापि ऐसे किसी पक्षकथन को साबित करने का भार प्रतिवादियों पर है और उन्‍हें उस दशा में ऐसे भार का समाधानप्रद रूप निर्वहन करना है जब वादी के पक्ष में यह उपधारणा की जानी हो कि परक्राम्‍य लिखत अधिनियम की धारा 118 के अधीन परक्राम्‍य लिखत प्रतिफल के बदले में थी। कैलाश चंद्र स्‍वेन बनाम धोबी बारिक वाले मामले में माननीय न्‍यायमूर्ति ने यह मताभिव्‍यक्ति की है कि अधिनियम की धारा 118 के अधीन उपलक्ष्‍य उपधारणा की खंडन परिस्थितिजन्‍य साक्ष्‍य से तथा धारा 114 के अधीन की जाने वाली तथ्‍य की उपधारणा से किया जा सकता है। भारतीय साक्ष्‍य अधिनियम की धारा 114 का दृष्‍टांत देखिए। मानयम जनकलक्ष्‍मी बनाम मानयम माधवराव और अन्‍य वाले मामले में तत्‍कालीन न्‍यायमूर्ति चिन्‍नप्‍पा देड्डी ने न्‍यायालय का निर्णय सुनाते हुए निम्‍नलिखित मताभिव्‍यक्ति की है। विधि भी लिखत के आधार पर वाद फाइल करने वाले व्‍यक्ति से उस रचित या तैयार की गई थी।

saving score / loading statistics ...