eng
competition

Text Practice Mode

BUDDHA ACADEMY TIKAMGARH - SUBODH KHARE

created Nov 15th, 05:47 by subodh khare


1


Rating

410 words
573 completed
00:00
पंडित जवाहर लाल नेहरू को भारत के प्रसिद्ध व्‍यक्तियों में गिना जाता है और लगभग सभी भारतीय उनके बारे में अच्‍छे से जानते है। वो बच्‍चों से बेहद प्‍यार करते थे। उनके समय के बच्‍चे उन्‍हें 'चाचा' कहकर बुलाते थे। वो बहुत प्रसिद्ध राष्‍ट्रीय और अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यक्ति थे। भारत के उनके पहले प्रधानमंत्री काल के दौरान उनकी कठिनाईयों के कारण उन्‍हें आधुनिक भारत का निर्माता माना जाता है। 1947 से 1964 तक देश के प्रथम और लंबी अवधि तक प्रधानमंत्री होने का गौरव नेहरू जी को ही हासिल है। देश के प्रथम और लंबी अवधि तक प्रधानमंत्री होने का गौरव नेहरू जी को ही हासिल है। देश की आजादी के तुरंत बाद उन्‍होंने भारत को आगे बढ़ाने की जिम्‍मेदारी उठाई। 14 नवंबर 1889 को उत्‍तर प्रदेश के इलाहाबाद में मोती लाल नहरू और कमला नेहरू के घर इनका जन्‍म हुआ। इनके पिता उस समय के बेहद रईस, प्राख्‍यात और सफल वकील थे। मोती लाल जी ने नेहरू को किसी राजा की भांति पाला। पंडित नेहरू ने अपनी शुरुआती शिक्षा घर में ही बेहद सक्षम शिक्षकों से प्राप्‍त की। 15 साल की उम्र में उच्‍च शिक्षा की खातिर नेहरू जी इंग्‍लैंड चले गये जहाँ उन्‍होंने हैरो और कैंब्रिज विश्‍वविद्यालय से पढ़ाई की। उन्‍होंने 1910 में डिग्री पूरी की और अपने पिता की तरह कानून की पढ़ाई की और बाद में वो एक वकील बने। देश लौटने के बाद उन्‍होंने इलाहाबाद हाई कोर्ट से अपनी प्रैक्टिस शुरु की। 27 वर्ष की उम्र में 1916 में नहरू जी ने कमला कौल से शादी की और इंदिरा गांधी के रूप में एक बेटी के पिता बने। गुलामी के दौरान उन्‍होंने देखा कि अंग्रेज भारत के लोगों के साथ बहुत बुरा व्‍यवहार कर रहे है और तभी उन्‍होंने स्‍वतंत्रता आंदोलन से जुड़ने का फैसला किया और भारत के लिये अंग्रेजों से लड़ने का संकल्‍प लिया। उनका देशभक्‍त दिल उनको आराम से बैठने के लिये इजाजत नहीं दे रहा था और मजबूर कर रहा था कि वो बापू के साथ आजादी के आंदोलन से जुड़े और आखिरकार वो गांधी जी के असहयोग आंदोलन से जुड़ गये। वो कई बार जेल गये लेकिन कभी भी इससे पेरशान नहीं हुए और अंग्रेजों की हर सजा के बावजूद भी वो खुशी से अपनी लड़ाई को जारी रखते थे। आखिरकार भारत की आजादी का दिन भी आया और 15 अगस्‍त 1947 को भारत स्‍वतंत्र हुआ तथा भारत को लोगों ने देश को सही दिशा में आगे बढ़ाने के लिये नेहरू जी को भारत के पहले प्रधानमंत्री के रूप में चुना।

saving score / loading statistics ...