eng
competition

Text Practice Mode

BUDDHA ACADEMY HIGH COURT MAINS -RISHI RICHHARIYA

created Jan 13th, 16:29 by Rishi Richhariya


1


Rating

475 words
267 completed
00:00
सारी दुनियाँ में तेजी से डिजि‍टलीकरण हो रहा है। काम के लिए रोबोट्स का इस्‍तेमाल बढ़ रहा है। कहीं आपको खाना सर्व करते रोबोट दिखाई देंगे, तो कहीं जटिल ऑपरेशन करते हुए दिख जायेंगे। जापान, जर्मनी, अमेरिका, चीन यहाँ की मिडिल ईस्‍ट के देशों में तेजी से रोबोट्स का प्रयोग बढ़ रहा है जर्मनी में तो बाकायदा दुकान में रोबोट आपका स्‍वागत करता मिलेगा। वहाँ दुकान में घुसते ही एक रोबोट आपके पास पहुँचता और आपका अभिवादन करता है हाय मैं अमन हूँ। क्‍या आप कोई खास प्रोटक्‍ट ढूंढ रही हैं? मैं आपको टीवी डिपोर्टमेंट की तरफ ले जा सकता हूँ दरअसल अमन इस दुकान का नया कर्मचारी है वह पहला रोबोट है जो ग्राहकों को रास्‍ता बताता है। वह स्‍माल टॉक भी करता है और लोगों को सहज बनाता है रोबोटिक्‍स एक्‍सपर्ट जानते हैं कि वह सिर्फ सेल्समेन ही नहीं वह कई उद्योगों में काम कर सकता है। तेजी से बढ़ रहे रोबोट्स के इस तरह के प्रयोगों के बारें में यूनिटी रोबोटिक्‍स के उलरिश राइजर बताते हैं, मुझे लगता है कि लोगों की कमी से जूझ रहे पेशों में रोबोट इस जगह को भरेंगे जैसे मरीजों के देखभाल के मामले में जहाँ 25 हजार कुशल कर्मचारियों की कमी है। सर्विस के मौजूदा स्‍तर को बनाए रखने में दूसरे उद्योगों में रोबोट बड़ी भूमिका निभायेंगे। वहीं अमेरिकी कंपनी अमेजॉन के एक लॉजिस्टिक सेंटर में भविष्‍य हकीकत में बदल चुका है। पहली नजर में यहाँ इंसान नजर ही नहीं आते। सेल्‍फ यहाँ आजादी से घुमती हैं। सब के नीचे अत्‍याधुनिक रोबोट लगे हैं जिन्‍हें अमेजॉन ने खुद बनाया है। वहीं लॉजिस्टिक सेंटर में हाल ही में करीब 2 हजार लोगों की भर्ती हुई यदि रोबोट्स नहीं होते तो यह संख्‍या 4 हजार होती। रोबोट्स का उपयोग मेडिकल स्‍टोर में भी बढ़ गया है। ऑपरेशन को और सटीक बनाने के लिए डॉक्‍टर आजकल ऐसे सहयोगी की मदद लेने लगे हैं जो इंसान नहीं हैं। बारीकी से मुश्किल ऑपरेशन करने वाला रोबोट मरीज के बीमार ऑर्गन को पूरी तरह निकालने में सर्जनों की मदद करता है। दरअसल, रोबोटिक्‍स सर्जरी का विकास पहले से उपलब्‍ध मिनिमल इनवेशिस सर्जरी की प्रक्रिया को और बेहतर बनाने के लिए हुआ। इसमें सर्जन या तो टैलीमेनुपुलेटर का इस्‍तेमाल करते हैं या कम्‍प्‍यूटर काओर के लिए संचालित करते हैं मशीनें बनाने में खर्चा आता है लेकिन बे तनख्‍वाह नहीं मांगते यही वजह है जगह जगह रोबोट का इस्‍तेमाल शुरू हो गया है अमेजॉन के दफ्तर में पैकिंग का काम रोबोट ही करते हैं जल्‍दी ही डिलीवरी भी किया करेंगे। हर फिल्‍ड के बढ़ते इस्‍तेमाल से यह प्रश्‍न उठने लगा है कि कहीं हमारी हेल्‍प करने वाली यह रोबोट हमारी ही नौ‍करियाँ ही ना छिनना लगें अर्थशास्‍त्र का कितनी नौकरियाँ रोबोट को जा सकती है रोबोट्स का दुनिया में क्‍या भविष्‍य रहेगा वे आने वाले समय में कितनी और कैसे जॉब करेंगे? इसके बारें में दिग्‍गजों ने भी अपनी चिंता जताई है।  

saving score / loading statistics ...