eng
competition

Text Practice Mode

बंसोड टायपिंग इंस्‍टीट्यूट गुलाबरा, छिन्‍दवाड़ा मो.न.8982805777 सीपीसीटी न्‍यू बैच प्रांरभ

created Sep 11th, 11:17 by SARITA WAXER


1


Rating

267 words
205 completed
00:00
आतंकवादी कहे जाने वाले प्रशिक्षित लोगों के समूह के द्वारा अन्‍यायपूर्ण  और हिंसात्‍मक गतिविधियों को अंजाम देने की प्रक्रिया को आतंकवाद कहते हैं। वहां केवल एक मालिक होता है जो समूह को किसी भी खास कार्य किसी भी खास कार्य को किसी भी तरीके से करने का सख्‍त  आदेश देता है। अपने अन्‍यायी विचारों की पूर्ति के लिये उन्हें  पैसा, ताकत और प्रचार की जरूरत होती है। ऐसी परिस्थिति में, ये मीडिया होती है जो किसी भी राष्‍ट्र के समाज में आतंकवाद के बारे में खबर फैलाने में वास्‍तव में मदद करती है। अपनी योजना, विचार और लक्ष्‍य के बारे में लोगों तक पहुंच बनाने के लिये आतंकवाद भी मीडिया का सहारा लेता है।  
अपने उद्देश्‍य और लक्ष्‍य के अनुसार विभिन्‍न। आतंकी समूह का नाम पड़ता है। आतंकवाद की क्रिया मानव जाति को बड़े पैमाने पर प्रभावित करती है और लोगों को इतना डरा देती है कि लोग अपने घरों से बाहर निकलने में डरते हैं। वो साचते हैं कि आतंक हर जगह है जैसे घर के बाहर रेलवे स्‍टेशन, मंदिर, सामाजिक कार्यक्रमों, राष्‍ट्रीय  कार्यक्रमों आदि में जाने से घबराते हैं। लोगों के दिमाग पर राज करने के साथ ही अपने कुकृत्‍यों कों प्रचारित और प्रसारित करने के लिये अधिक जनसंख्‍या के खास क्षेत्रों के तहत आतंकवादी अपने आतंक को फैलाना चाहते हैं। आतंकवाद के कुछ हालिया उदाहरण अमेरिका का 9/11 और भारत का 26/11 हमला है। इसने इंसानों के साथ ही बड़े पैमाने पर देश की अर्थव्‍यवस्‍था को भी चोट पहुंचायी है।
राष्‍ट्र  से आतंकवाद और आतंक के प्रभाव को खत्म करने के लिये, सरकार के आदेश पर कड़ी सुरक्षा का प्रबंध किया गया है।  

saving score / loading statistics ...