eng
competition

Text Practice Mode

बंसोड टायपिंग इंस्‍टीट्यूट गुलाबरा, छिन्‍दवाड़ा मो.न.8982805777 सीपीसीटी न्‍यू बैच प्रांरभ

created Nov 8th, 09:51 by sachin bansod


0


Rating

263 words
53 completed
00:00
साल के चारों मौसमों में सबसे गर्म मौसम गरमी का होता है। यह ग्रीष्‍मकालीन संक्रान्ति के दौरान शुरू होता है, हालांकि इसकी समाप्ति शरद कालीन विषुवत के दिन होती है। दक्षिणी और उत्‍तरी गोलार्द्ध एक दूसरे की विपरीत दिशा में स्थित है इसलिए जब दक्षिणी गोलार्द्ध में गरमी होती है, तो उत्तरी गोलार्द्ध में सर्दी होती है। यह बहुत अधिक तापमान और शुष्‍क मौसम होता है, जिसमें हिंसक  भी शामिल रहता है, जो मृत्‍यु दर को बढ़ाने का मुख्‍य कारण बनता है। इस ऋतु में मौसम उच्‍च तापमान के कारण अधिक गर्म हो जाता है, जो कुछ क्षेत्रों में पानी आपूर्ति में कमी की वजह से सूखे का कारण बनता है गर्म हवाएं और तापमान में वृद्धि दोनों ही इस ऋतु को बहुत अधिक गर्म बनाती है, जो मनुष्‍य और जंगली जानवरों दोनों के लिए बहुत अधिक परेशानी का निर्माण करता है। गरमी के मौसम में बहुत सी (मनुष्‍य और पशुओं दोनों की) मृत्‍यु शरीर में पानी की कमी के कारण होती है। बीमारी नियंत्रक और रोकथाम केन्‍द्र की रिपोर्ट के अनुसार, उच्‍च ऊष्‍म तरंगे ग्रीष्‍म ऋतु में गरमी की चरम सीमा का कारण होती है। इसलिए, इस मौसम में सबसे अच्‍छा अच्‍छी तरह से हाइड्रेटेड रहना चाहिए। विज्ञान की राष्‍ट्रीय खाद्य अकादमी एवं पोषण बोर्ड के अनुसार, महिलाओं को सामान्‍य रूप से पानी की 2.7 लीटर मात्रा और पुरूषों को गर्मियों ने दैनिक आधार पर 3.7 लीटर पानी अवश्‍य पीना चाहिए। जो लोग व्‍यायाम या अधिक परिश्रम का काम करते हैं। उन्‍हें सामान्‍य से अधिक पानी पीना चाहिए। राष्‍ट्रीय जलवायु केंन्‍द्र द्वारा दर्ज किए गए आकड़ो के अनुसार, यह दर्ज किया गया।

saving score / loading statistics ...